Chudai kahani site,chudai,चुदाई कहानी

Chudai kahani site, चुदाई कहानी, Chudai kahaniya, chodne ki kahani,pyasi chut ki kahani,gand aur chut chudai ki kahani,mummy ki chudai,behan ki chudai,bhabhi ki chudai,devar se chudai,bhai se chudai,papa se chudai,bete se chudwaya,bhai behan ki chudai,devar bhabhi ki chudai,gand aur chut marne ki kahani,

अविवाहित मौसी की कुँवारी चूत की चुदाई

पहली चुदाई की कहानियाँ, Hindi xxx chudai kahani, मौसी की चुदाई, Desi xxx kamasutra kahani, कुँवारी चूत की पहली चुदाई, Kuwari chut ki pehli chudai ki sexy kahaniya, अविवाहित मौसी के साथ सेक्स, Antarvasna hindi sex stories, chudai,pyasi chut ki kahani, मौसी की कुँवारी चूत की पहली चुदाई,

मेरे मामा के घर में मेरे मामा जो कि एक बड़ी कंपनी में नौकरी करते है मामी जो कि एक ग्रहणी है और उनके दो बच्चे है और मामा की एक बहिन भी है मतलब मेरी मौसी जो कि अपाहिज है,तो दोस्तों अपाहिज होने की वजह से उनकी शादी नहीं हो पाई थी उनका नाम मीनू है और उनकी उम्र 34 साल है जब मैं मामा के घर जाता था तो मैं वहाँ अपने दोस्तों के साथ क्रिकेट खेलने भी जाता था एक दिन मामा और मामी को पास के गाँव में एक शादी मैं जाना था तो मामी ने मुझे रात को बताया कि हम कल शादी में जा रहे है मैं खाना बनाकर जाऊँगी तुम्हें भूख लगे तब खा लेना और हम शाम तक लौटेंगे
दूसरे दिन मामा और मामी शादी में चले गये साथ में बच्चों को भी ले गये अब घर में सिर्फ़ मैं और मेरी अपाहिज मौसी ही बचे थे मैं सुबह उठा और नहाने के बाद नाश्ता किया और मौसी से कहा कि मैं खेलने जा रहा हूँ दोपहर के खाने पर ही आऊंगा और मैं चला गया दोपहर को जब मैं खेल कर वापस से घर पर आया तो मैनें घर का दरवाज़ा खुला हुआ देखा मैं जब अंदर गया तो मौसी के कमरे से मुझे कुछ अजीब सी आवाजें आ रही थी तो मैनें चुपके से दरवाज़े के अंदर देखा तो मैं एकदम से हैरान रह गया मुझे जैसे करंट सा लगा था मौसी पूरी तरह से नंगी होकर पलंग पर लेटी हुई थी और वह अपनी चूत में गाजर को अंदर बाहर कर रही थी मैं दरवाजे के पास से ही खड़ा होकर यह सब देख रहा था उस नजारे को देखकर मेरा लंड भी खड़ा होने लगा था और मेरा हाथ अपने-आप ही मेरे लंड को सहलाने लगा था तभी मौसी की चूत में से पानी निकल आया और फिर मैं भी झट से बाथरूम की ओर भागकर गया और अपना 6.5’’ का लंड निकाल कर ज़ोर-ज़ोर से हिलाने लगा और जब मैं बाथरूम से बाहर आया तो मौसी टीवी देख रही थी शायद बाथरूम में पानी की आवाज़ से मौसी को पता चल गया होगा कि मैं खेलकर वापस आ गया हूँ शाम को मामा मामी शादी में से वापस आ गये थे और उन्होंने रात का खाना खाया और सोने चले गये रात के करीब 12 बजे थे सब लोग सो रहे थे मगर मुझे नींद ही नहीं आ रही थी आँखे बंद करने पर मुझे मौसी नंगी दिखाई दे रही थी,ये सेक्स कहानी,चुदाई कहानी साइट डॉट कॉम पर पड़ रहे है। मैं मौसी के बारे में ही सोचने लगा और अब मैं मौसी को बस एकबार चोदना चाहता था मगर यह मुश्किल लग रहा था मुझे लगा कि किसी को पता चल गया तो और या मौसी ने किसी से कह दिया तो. ऐसे ही बहुत से सवाल मेरे मन में आने लगे थे पर मुझे कुछ भी करके बस मौसी को एकबार चोदना ही था,अगले दिन मेरे मामा काम पर चले गये और मैं भी खेलने चला गया मगर मेरा आज खेल में बिल्कुल भी मन नहीं लग रहा था और दोपहर को जब मैं खेलकर वापस घर आया तो खाना खाकर टीवी देखने लगा तो मौसी भी वहीं बैठकर टीवी देख रही थी और मामी सो रही थी तभी मौसी ने मुझसे कहा की वह सामने टेबल पर जो तेल रखा है उसे लो और मेरे पैर पर लगा दो डॉक्टर ने उनको यह तेल रोज़ दो बार लगाने को दिया था

मैनें तेल लिया और मौसी को दे दिया पर मौसी ने मुझसे कहा कि आज तुम ही लगा दो तुम्हारी मामी आज सो गई है तो उनको जगाना ठीक नहीं होगा और मैं भी तो यही चाहता था तो मैनें तेल की शीशी को ले लिया और मौसी के पैरों पर मालिश करने लगा लगभग 10 मिनट तक मालिश के बाद मौसी मुझसे बोली कि बस बहुत हुआ और अब तुम जाओ फिर मैं तो और मालिश करना चाहता था मगर डर लग रहा था कि मौसी को ग़लत लगेगा और मौके का फायदा उठाते हुए मैनें मौसी को बोला कि मौसी आज से मैं ही आपको रोज़ तेल लगाऊं क्या?तभी मौसी ने कहा अगर तुमको कोई परेशानी नहीं हो तो रोज़ मेरे पैरों की मालिश कर दिया करो और मुझे भी इस बहाने तुम्हारे साथ कुछ समय बिताने का मौका मिल जाएगा बस उस दिन से मैं रोज मौसी की हर रोज़ दोपहर और रात को पैरों की मालिश कर देता था धीरे-धीरे मौसी और मैं एक-दूसरे से अच्छी तरह से घुल-मिल गये थे और वह मुझसे खुल कर बातें भी करने लगी थी एक रात की बात है जब मैं मालिश कर रहा था तभी मौसी ने मुझ से पूछा कि क्या तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड भी है,ये सेक्स कहानी,चुदाई कहानी साइट डॉट कॉम पर पड़ रहे है। तो मैं एकदम से चौंक गया और मेरे दिल की धड़कन तेज़-तेज सी होने लगी थी और मैनें कहा कि नहीं तो फिर उन्होनें कहा कि झूठ मत बोलो ऐसा हो ही नहीं सकता तुम्हारी उम्र के लड़कों की तो गर्लफ्रेंड होती है पर मैनें उनसे कहा कि सच मैं मेरी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है तभी मौसी बोली अच्छा ठीक है अब रात बहुत हो चुकी है और अब तुम जाकर सो जाओ तभी मैनें कहा क्या मैं आज आपके पास यहीं पर सो जाऊँ रात भी काफ़ी हो चुकी है फिर मौसी बोली कि ठीक है सो जाओ और मैं मौसी के बगल मैं सो गया,रात के करीब 3 बजे थे मैं करवट बदल रहा था तभी मैनें देखा कि मौसी की गांड मेरी तरफ ही थी उनकी मस्त मोटी गांड क्या लग रही थी दोस्तों उसको देखकर मैं सोच रहा था कि अभी चोद दूँ लेकिन मौसी सो रही है मौसी की नाइटी के बटन भी खुले हुए थे तो मैनें धीरे से नाइटी को एक तरफ किया और उनके 32 साइज़ के बब्स देख कर मुझसे तो रुका ही नहीं गया और मैं धीरे से उनको दबाने लगा थोड़ी देर बब्स मसलने के बाद मैं सो गया क्योंकि घर में मामी जल्दी ही उठ जाती है और वह 4 बजे उठ गई थी

दूसरे दिन जब मैं खेलकर वापस आया और मौसी के पैरों की मालिश कर रहा था तो मौसी ने मुझसे कहा कि थोड़ा और ऊपर मालिश करो तब मैं उनके घुटनों के पास मालिश करने लगा तो उन्होनें फिर से मुझे कहा कि थोड़ा और ऊपर करो अब मैं उनकी जाँघो पर मालिश कर रहा था तभी मौसी ने कहा कि थोड़ा और ऊपर अब मैं उनकी कमर के पास और उनकी चूत के किनारों पर मालिश करने लगा था अब मेरा लंड भी खड़ा हो गया था और मौसी ने मेरे मोटे लंड को खड़ा हुआ देख लिया था पेंट में भी मेरा लंड ऐसा लग रहा था कि जैसे पेंट के अंदर कोई मोटी लकड़ी फँसा रखी हो अन्दर और वैसे भी मौसी तो बहुत दिनों की जो  प्यासी थी लंड लेने के लिये बुरी तरह से तड़प रही थी,तभी मौसी ने मेरे लंड को अपने एक हाथ से पकड़ा तो मैं डरते हुए खड़ा हो गया फिर मौसी ने कहा कि क्यूँ डर रहे हो कल तो बड़े मज़े से मेरे दोनों बब्स को मसल रहे थे फिर मैनें कहा कि तो क्या आप सो नहीं रही थी? तो मौसी ने कहा कि मैं तो मज़े ले रही थी फिर मैनें सोचा कि तुम कुछ आगे और भी करोगे मगर तुम ने तो सिर्फ़ मेरे बब्स को ही दबाया और सो गये तभी मौसी ने कहा कि वह भी मुझसे बस एकबार चुदवाना चाहती है फिर उन्होनें कहा कि मेरी सारी सहेलियां शादीशुदा है और वह सभी अपनी जिन्दगी का जमकर मजा ले रही है मगर मेरी शादी नहीं हुई है तो मैं इस आनंद से वंचित हूँ और मैं कब से तड़प रही हूँ इस आनन्द के लिये तुम जब से यहाँ आए थे उसी दिन से मैं तुमसे अपनी चुदाई करवाने का प्लान बना रही थी तुम्हारे सामने मैनें जानबूझकर गाजर को अपनी चूत में डाला था यह बात सुनकर तो मुझे खुद पर कंट्रोल ही नहीं हुआ और मैं एकदम से जोश में आ गया और झट से पलंग पर चढ़ गया और मौसी को चूमने लगा,ये सेक्स कहानी,चुदाई कहानी साइट डॉट कॉम पर पड़ रहे है। और मौसी भी मुझे चूमने लगी थी करीब 15 मिनट की चूमा-चाटी होने बाद मैनें मौसी की नाइटी को ऊपर से उतार दिया और उनके बब्स को चूसने लगा तभी मौसी ने मेरे लंड को पेंट से बाहर निकालकर उसे हिलाने लगी तो मैनें भी उनको पलंग पर लिटाया और उनकी चूत को चाटने लगा जिससे मौसी भी लम्बी-लम्बी सिसकारियाँ लेने लगी थी और वह आ आ ऊ या ऐसी आवाजें कर रही थी और थोड़ी देर बाद वह झड़ भी गई थी मगर मेरा काम तो अभी शुरू ही हुआ था,फिर मैनें मेरा 6.5” का लंड उनके मुहँ के पास किया और चूसने को कहा तो पहले तो वह मना करने लगी लेकिन फिर मैनें उनको मनाया तो वह मान गई और फिर मैनें अपना लंड उनके मुहँ में दे दिया फिर वह उसको चूसने लगी मैं भी अपने जीवन मैं पहली बार किसी को अपना लंड चुसवा रहा था जिसके कारण मुझे भी बहुत मज़ा आ रहा था

थोड़ी देर बाद मैनें मौसी के दोनों पैर ऊपर उठाए और मैनें अपना लंड उनकी चूत के मुहँ पर पर सेट किया और फिर मौसी की चूत के दाने को अपने लंड से रगड़ने लगा जिससे मौसी अआह्ह्ह ऊऊउ करने लगी फिर थोड़ी देर बाद मैनें अपना लंड थोड़ा सा अंदर धकेला तो मौसी जोर से चिल्ला उठी तो उनके चिल्लाने से पहले ही मैनें उनको किस करना शुरु कर दिया था ताकि मेरी मामी सुन ना ले और फिर एक जोरदार झटके से साथ मैनें अपना पूरा का पूरा लंड मौसी की चूत में डाल दिया और उनकी आँखों से आँसूओं की धारा बहने लगी और उनकी चूत की सील तो पहले ही मौसी ने गाजर, मूली घुसाकर तोड़ रखी थी और फिर मैं अपने लंड को धीरे-धीरे से अंदर-बाहर करने लगा तो क्या बताऊँ दोस्तों टाइट चूत मैं लंड घुसाने का मजा ही कुछ अलग आता है इतनी टाइट चूत तो मैनें अपनी जिन्दगी में कभी देखी ही नहीं थी और मैं मौसी को फका-फक चोदे जा रहा था अब मौसी भी मेरे साथ मज़े ले रही थी लगभग 20 मिनट की फका-फक चुदाई के बाद मौसी की चूत ने पानी छोड़ दिया था और अब मैं भी झड़ने वाला था,ये सेक्स कहानी,चुदाई कहानी साइट डॉट कॉम पर पड़ रहे है। फिर मैनें उनको पूछा कि अपना माल कहाँ निकालूँ तो मौसी ने कहा कि अंदर मत निकालना बाहर मेरे बब्स के ऊपर ही छोड़ दो उनके ऐसे कहते ही मैनें अपना लंड उनकी चूत से बाहर निकाला और उनके बब्स पर अपना सारा माल छोड़ दिया और मैं उनकी बगल में जाकर सो गया और जब तक मामी सोती रही तब तक मैनें उनको 2 बार और चोदा फिर जब भी हमको मौका मिलता था हम दोनों खूब चुदाई करते थे, कैसी लगी अविवाहित मौसी की चुदाई स्टोरी , अच्छा लगी तो शेयर करना , अगर कोई मेरी मौसी की चूत की चुदाई करना चाहते हैं तो उसे अब ऐड करो Kamatur avivahit sexy mausi

The Author

अन्तर्वासना हिंदी चुदाई की कहानियाँ

अन्तर्वासना की चुदाई कहानियाँ, हिंदी सेक्स कहानी , देसी सेक्स कहानी, चुदाई कहानी, भाई बहन की सेक्स, माँ बेटे की चुदाई, बाप बेटी की सेक्स स्टोरी, देवर भाभी की कामसूत्र, बहन की चूत चुदाई, माँ की बूर चुदाई, कामवासना की हिंदी कहानी,
Chudai kahani site,chudai,चुदाई कहानी © 2018 Desi Sex Kahani